इख़्तियार

इख़्तियार

ये पहचान मेरी जो दिखाई देती है  

गुज़रे वक़्त में मुझ पर की गई 

ज़्यादतियों की गवाही देती है  

सदियों से एक बोझ मुझ पर लादा गया है  

नाम तहज़ीब का लेकर मुझ को बांधा गया है  

सनफे नाजुक (१) का इस्म (२) जो मुझ को दिया  

संग एक कफ़स (३) भी तोहफा दिया  

मिला माहौल घुटन जदा,मैं दब सी गई  

डाल खुद पर हिजाब में ढक सी गई  

ख्वाब परवाज़ का मैंने जो देखा ज़रा 

मेरे हाकिम ने मुझ को फिर दे दी सज़ा 

निशान जख़्म का ज़ालिम ने जब मुझ को दिया  

हुई नम आँखे,मगर मैंने टूटे परों को समेट लिया  

एक अलामत-ए-मज़हब (४) जो पहनाया मुझे  

हज़ार लोगों की नज़रो में लाया मुझे  

बाद इसके मैं इतनी बदल जाऊँगी 

मैंने सोचा न था,शक में घिर जाऊँगी  

क्यों किसी को इख़्तियार हो किसी की पहचान बनाने का  

सभी को किसी ना किसी साँचे में ढालने का  

क्या पैराहन (५) हो मेरे,ये मेरा ही इख़्तियार हो  

न कोई जबर हो,ना कोई कानून, ना कोई पहरेदार हो  

ये सियाह- साया (६) मेरे वजूद को हरगिज़ ना मिटा पाएगा 

तारों की मांनिद  मेरा हर नक्ष  

गहरे बदलो से उभर आएगा ! 

हज़ार भंवर में, फसा भी हो मेरा सफीना (७)  

मेरे अज्म (८) का बादबान (९) इसे साहिल पर ले आएगा  

एक संग तराश की मांनिद मैं खुद को तराशुंगी  

खुद को एक नफीस मूरत में डालूँगी  

बढ़ते क़दमो से मंजिल को पाऊँगी 

इन ही क़दमो से फासलो का निशा मिटाऊँगी  

 

 

इख़्तियार- अधिकार  

उर्दू शब्दों के अर्थ 

सनफे नाजुक --- कमज़ोर औरत  

इस्म--- नाम  

कफ़स--- कैदखाना   

अलामत-ए-मज़हब --- मज़हब की निशानी  

पैराहन --- पहनावा / लिबास   

सियाह- साया --- हिजाब   

सफीना --- कश्ती  

अज्म --- इरादा  

बादबान --- वह पर्दा जो हवा का रुख बदलने के लिए नाव पर लगाते है  

 

- अक्विला खान  

 

Others

Find out how Oxfam India is enabling communities by working to provide a life of dignity and equal opportunity for all.Get to know more about Oxfam India`s latest projects.

Read More

Related Blogs

Blogs

Stories that inspire us
Others

05 Feb, 2016

No Location

3 Key Observations from #WEF2016 that Indian Businesses Must Take Note Of

Sharelines #WEF2016 discussed global challenges. Here are 3 observations that Indian businesses must take note of https://bit.ly/20dOMUK Inequality, health, gender – 3 observ...

Others

02 May, 2016

No Location

Signs of social risks impacting Indian businesses

In a growing economy like India social risks are ever-present. Social risks are perceived or real threats triggered by actions of others and by natural causes. The poor and marginal...

Others

27 Jun, 2016

No Location

Rahul Bose: Films should be gender sensitive

Gender sensitivity plays a key role in cinema, through it’s acknowledgement or the lack of it. It’s well known how differently the industry pans out for male and female actors. To f...

Others

29 Oct, 2016

No Location

Oxfam Best Film on Gender Equality Award Gets Grand Reception

Cinema has immense influence in Indian society, which is why Oxfam India instituted the 'Best Film on Gender Equality' award in partnership with JIO MAMI 18th Mumbai Film Festival a...

img Become an Oxfam Supporter, Sign Up Today One of the most trusted non-profit organisations in India